यूपी बोर्ड परीक्षा से पहले कोर्स पूरा न होने पर अध्यापकों पर होगी कार्रवाई, Click here

यूपी बोर्ड की परीक्षाओं से पूर्व कोर्स पूरा हुआ या फिर नहीं, इसकी जांच कराई जाएगी। राजकीय विद्यालयों के शिक्षकों की टीम गठित करने के आदेश बोर्ड ने दिए हैं।

UP Board
 

जिन स्कूलों में पाठ्यक्रम पूरा नहीं होगा, वहां के शिक्षकों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

हाईस्कूल एवं इंटरमीडिएट के छात्रों की पढ़ाई, कोर्स, पाठ्यक्रम की जांच कराई जाएगी। जिन स्कूलों में पाठ्यक्रम पूरा नहीं होगा, वहां के शिक्षकों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। बोर्ड परीक्षाएं फरवरी माह से शुरू होनी है। यूपी बोर्ड ने राजकीय विद्यालयों के शिक्षकों की टीम गठित करने के आदेश बोर्ड ने दिए हैं।

शैक्षिक कैलेंडर अनुसार कराना था पूरा कोर्स 

शैक्षिक कैलेंडर के अनुसार कोर्स पूरा कराना था। कई विद्यालयों में HighSchool & Intermediate का कोर्स अब तक पूरा नहीं हुआ है। ऐसे में छात्र-छात्राओं का भविष्य दांव पर है। अब जांच टीम विद्यालयों की पड़ताल कर कोर्स पूरा होने के बारे में 15 दिनों में DIOS कार्यालय को रिपोर्ट देगी। इसके बाद कार्यवाही की जायेगी।

शैक्षिक कैलेंडर में दिया गया था निर्धारित समय

शैक्षिक कैलेंडर के अनुसार स्कूलों में 30 अप्रैल तक प्रवेश प्रक्रिया पूरी की जानी थी। सितंबर में अर्द्धवार्षिक परीक्षा का कोर्स पूरा और परीक्षाएं कराकर परीक्षाफल वितरित किया जाना था। दिसंबर माह के अंत तक वार्षिक परीक्षा के लिए पाठ्यक्रम पूरा किया जाना था। 15 दिसंबर से प्रयोगात्मक परीक्षाएं (Practicles) संपन्न कराई जानी थी। फरवरी में वार्षिक परीक्षा है। ये था शैक्षिक कैलेंडर का ब्योरा।

लापरवाही बतरने पर शिक्षकों के खिलाप कार्रवाई

बोर्ड परीक्षा के छात्रों का पाठ़्यक्रम पूरा हुआ या नहीं, इसकी जांच के लिए शासन के निर्देश पर टीम को गठित किया जायेगा। रिपोर्ट के मुताबिक लापरवाही बतरने पर शिक्षकों के खिलाप कार्रवाई की जाएगी। विद्यालयों की पड़ताल कर कोर्स पूरा होने के बारे में 15 दिनों में DIOS कार्यालय को रिपोर्ट देगी। इसके बाद कार्यवाही की जायेगी।

Keep sharing with friends and keep visiting mycareerstudy.com

Posted by: My Career Study

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here