यूपी बोर्ड रिजल्ट 2019: उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन शुरू, सरकार ने दिए शक्त निर्देश

मुख्य सचिव अनूप चन्द्र पांडेय ने कहा है कि कोई भी व्यक्ति मूल्यांकन केन्द्र के अन्दर पहुंच कर काम को प्रभावित न कर पाए। आवश्यकता पड़ने पर स्थानीय पुलिस-प्रशासन का सहयोग लिया जाए। मूल्यांकन कार्य के दौरान कोई भी बाहरी व्यक्ति, जनप्रतिनिधि या मीडिया के लोग अन्दर न जाने पाएं। विद्यालय प्रबन्धन के लोगों का भी नहीं होगा।

UP board checking

 

8 मार्च से प्रारम्भ हो रहा मूल्यांकन कार्य सीसीटीवी कैमरे की निगरानी में निष्पक्ष तरीके से तय समय में कराया जाए। 

उत्तर प्रदेश के योगी सरकार के मुख्य सचिव अनूप चन्द्र पांडेय ने बोर्ड परीक्षाओं की उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन कार्य शुचितापूर्ण तरीके से करने के निर्देश दिये हैं। मुख्य सचिव अनूप चन्द्र पांडेय ने गुरुवार को आदेश जारी कर कहा है कि 8 मार्च से प्रारम्भ हो रहा मूल्यांकन कार्य सीसीटीवी कैमरे की निगरानी में निष्पक्ष तरीके से तय समय में कराया जाए। मूल्यांकन कार्य कर रहे परीक्षकों द्वारा काम के दौरान मोबाइल फोन का प्रयोग नहीं किया जाएगा।  उत्तर पुस्तकों की गोपनीयता बरकरार रखी जाए। किसी भी दशा में उत्तर पुस्तिकाओं की फोटो आदि खींचना और वायरल न की जाए।  
उत्तर प्रदेश मुख्य सचिव ने कहा है कि पिछली बार कुछ परीक्षकों ने ओएमआर शीट की फोटो खींच कर वायरल कर दी थी। जिसके कारण माध्यमिक शिक्षा परिषद, शासन-प्रशासन की छवि धूमिल हुई थी। संबंधित परीक्षकों के खिलाफ कार्रवाई भी हुई थी।  
मुख्य सचिव अनूप चन्द्र पांडेय ने कहा है कि कोई भी व्यक्ति मूल्यांकन केन्द्र के अन्दर पहुंच कर काम को प्रभावित न कर पाए। आवश्यकता पड़ने पर स्थानीय पुलिस-प्रशासन का सहयोग लिया जाए। मूल्यांकन कार्य के दौरान कोई भी बाहरी व्यक्ति, जनप्रतिनिधि या मीडिया के लोग अन्दर न जाने पाएं। विद्यालय प्रबन्धन के लोगों का भी नहीं होगा।

UP Board Result 2019: Evaluation of answer sheets started, Government issued directions

Chief Secretary Anup Chandra Pandey has said that no person can influence the work by reaching within the evaluation center. If necessary, cooperation of local police-administration should be taken. During the evaluation work, no outsiders, public representatives, or media people can not enter. The school management will not even be of the people.

 

Copy checking of up board

 

Monitoring of the evaluation work started on March 8 from the CCTV cameras in a timely manner.

Uttar Pradesh’s Yogi Sarkar’s Chief Secretary Anup Chandra Pandey has instructed to answer the question papers of the board examinations in a holistic manner. Chief Secretary Anup Chandra Pandey has issued an order on Thursday and said that the evaluation work started on March 8 from the CCTV cameras should be done in a fair time in the monitoring time. Mobile phones will not be used during the work by the evaluators working on the evaluation. The privacy of answer books will be maintained. In any case, photographs of answer sheets should be drawn and not viral.
 
Uttar Pradesh Chief Secretary has said that the last time some testers had taken the photograph of the OMR sheet to be viral. Due to which the image of the Secondary Education Council, the governance-administration was tarnished. Action was taken against the respective testers.
 
Chief Secretary Anup Chandra Pandey has said that no person can influence the work by reaching within the evaluation center. If necessary, cooperation of local police-administration should be taken. During the evaluation work, no outsiders, public representatives, or media people can not enter. The school management will not even be of the people.

Source: Read Source (Internet)

Read this also-

यूपी बोर्ड परीक्षा से पहले कोर्स पूरा न होने पर अध्यापकों पर होगी कार्रवाई, Click here

जानिए IAS बनने के लिए NCERT की Books ही क्यो पढनी चाहिए | UPSC Preparation

68500 सहायक अध्यापक भर्ती: FIR के हुऐ आदेश, भर्ती में नियुक्तियों में हो रही धांधली

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here